ज्ञानवापी को मस्जिद कहेंगे तो विवाद होगा, वहां त्रिशूल हमने तो नहीं रखा- सीएम योगी आदित्यनाथ

Published
Yogi Cabinet Meeting
Yogi Cabinet Meeting

नई दिल्ली: यूपी के ज्ञानवापी मस्जिद के मुद्दे ने अब एक बार फिर से तूल पकड़ लिया है। क्योंकि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ज्ञानवापी और काशी विश्वनाथ मंदिर विवाद को लेकर अहम टिप्पणी की है। सीएम योगी ने ये टिप्पणी ANI के खास प्रोग्राम पॉडकास्ट विद स्मिता प्रकाश में की है।

ज्ञानवापी को मस्जिद कहेंगे तो विवाद होगा-योगी

अभी सिर्फ प्रोग्राम का प्रोमो रिलीज हुआ है। जिसमें उन्होंने कहा है कि यदि हम ज्ञानवापी को मस्जिद कहेंगे तो विवाद होगा। मुझे लगता है कि भगवान ने जिसे दृष्टि दी है वह देखे कि त्रिशूल मस्जिद के अंदर आखिर कर क्या रहा है। हम तो वहां रखने नहीं गए है ना।

वहां की दीवारों पर देवताओं की प्रतिमाएं बनी हैं, धनुष के चित्र बने हैं। ज्योतिर्लिंग हैं। वहां की दिवारें चिल्ला-चिल्ला कर कह रही हैं कि ये मस्जिद नहीं मंदिर हैं। जहां तक मुझे लगता है कि यह प्रस्ताव मुस्लिम समाज की ओर से आना चाहिए कि ये एक ऐतिहासिक गलती हुई है और उसका समाधान होना चाहिए।

ममता बनर्जी पर साधा निशाना

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस दौरान पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर भी जोरदार निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मैं पिछले सवा 6 साल से यूपी का मुख्यमंत्री हूं। 2017 से यूपी में कोई दंगा तो नहीं हुआ। सभी चुनाव शांतिपूर्ण माहौल में संपन्न कराए गए हैं। पश्चिम बंगाल में भी पंचायत का चुनाव को लेकर सीएम योगी ने ममता बनर्जी पर भी निशाना साधा।

सीएम योगी ने कहा कि देश में भी कुछ लोग सत्ता में आकर जबरन पूरी व्यवस्था को कैद कर लेना चाहते हैं। पश्चिम बंगाल में जिस प्रकार की स्थिति हमें देखने को मिली है, वैसी स्थिति पैदा कने का प्रयास किया जा रहा है। सीएम योगी ने कहा कि कैसे वहां विरोधी दलों के कार्यकर्ताओं को मारा गया? ये चीजें आंखों को खोलने वाली हैं। इस मसले पर तो कोई बोलता तक नहीं है।