शाह का बालाकोट स्ट्राइक पर बयान, बताया राम मंदिर का चुनावी फायदा!

Published
Amit Shah
Amit Shah

नई दिल्ली/डेस्क: लोकसभा चुनाव के पांचवे चरण से पहले सभी पार्टी जनसभा और रैलियों में जुटी हुई हैं. चाहे वो बीजेपी हो या कांग्रेस, सभी एक दूसरे पर जुबानी वार करने का एक भी मौका नहीं छोड़ रही.

अमित शाह का कांग्रेस पर वार

पांचवे चरण के चुनाव से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने न्यूज ऐजेंसी ANI से आज वार्ता की. इस वार्ता में गृह मंत्री अमित शाह ने कई मुद्दों पर बात की. शाह ने एक तरफ कांग्रेस, कांग्रेस के घोषणापत्र पर तंज कसा तो वहीं दूसरी तरफ उन्होंने बीजेपी के जीत, वादों और उपलब्धियों की बात की.

राम मंदिर से हुए राजनीतिक फायदे

गृह मंत्री अमित शाह ने राम मंदिर से हुए राजनीतिक फायदे के बारें में बात करते हुए कहा, “चुनाव के दौरान राम मंदिर एक मुद्दा बन गया जब प्राण प्रतिष्ठा समारोह हो रहा था और सभी राजनीतिक दलों को निमंत्रण भेजा गया था, पूरे INDI गठबंधन ने प्राण प्रतिष्ठा का बहिष्कार किया और यह मेरा स्पष्ट आरोप है कि उन्होंने अपने अल्पसंख्यक वोट बैंक के डर से वहां जाना उचित नहीं समझा.”

बालाकोट हमले पर शाह का बयान

विपक्ष द्वारा हाल ही में बालाकोट हमले और पुलवामा हमले को एक बार फिर से उठाने पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, “नरेंद्र मोदी ने घर में घुस कर मारा है. धारा 370 हटने के बाद बीजेपी सरकार ने कश्मीर में हालात बदल दिए हैं.”

आगे गृह मंत्री ने यह भी कहा, ”अगर उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान की प्रतिक्रिया देखी होती तो वे ऐसा नहीं कहते. ये इतनी छोटी मानसिकता के हो गए हैं कि लोगों को ऐसे गुमराह कर रहे हैं जैसे कुछ हुआ ही नहीं हो. सोनिया-मनमोहन सरकार के 10 साल में इतने बम धमाके हुए, क्या किसी का कोई ठोस जवाब दिया गया? आपने क्या किया? आपने अपना अल्पसंख्यक वोट बैंक खोने के डर से इसका विरोध भी नहीं किया. नरेंद्र मोदी ने घर में घुस कर मारा है. धारा 370 हटने के बाद भाजपा सरकार ने कश्मीर के हालात बदल दिए हैं. हमने सख्त कदम उठाए हैं, नतीजा- जो लोग भारत के संविधान को नहीं मानते थे, उन्होंने अब दो दिन पहले चुनाव में वोट डाला है.”

लेखक- वेदिका प्रदीप