पूर्व सीएम हेमंत सोरेन के खिलाफ ED के हाथ लागे पुख्ता सबूत, व्हाट्सएप चैट से खुलेंगे कई राज!

Published

नई दिल्ली: झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन 31 जनवरी से ईडी रिमांड में हैं। बड़गाई अंचल के 8.50 एकड़ जमीन घोटाले मामले में हेमंत सोरेन की पांच दिन की रिमांड 7 फरवरी हो खत्म हो चुकी थी। लेकिन ईडी ने कोर्ट से 7 दिन की रिमांड और बढ़ाने की मांग की थ।

लेकिन कोर्ट से ईडी को 5 दिन की ही रिमांड मिल सकी। समाचार एजेंसी एएनआई से मिली जानकारी के अनुसार, ईडी की हिरासत के दौरान, झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन से उनके करीबी सहयोगी बिनोद सिंह के साथ व्हाट्सएप पर उनकी चैट का सामना कराया गया, जो बेहद आपत्तिजनक है और इसमें कई संपत्तियों का विवरण शामिल है।

इन चैट्स में न केवल कई संपत्तियों के संबंध में गोपनीय जानकारी का आदान-प्रदान शामिल है, बल्कि ट्रांसफर पोस्टिंग, सरकारी रिकॉर्ड साझा करने आदि से संबंधित अन्य आपत्तिजनक जानकारी भी शामिल है, जिसमें से बड़ी मात्रा में धन उत्पन्न और लेनदेन किया गया प्रतीत होता है।

इसके अलावा, बिनोद सिंह ने अधिकारियों के ट्रांसफर पोस्टिंग, झारखंड कर्मचारी चयन आयोग द्वारा आयोजित प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल होने वाले छात्रों के कई एडमिट कार्ड को अपने कब्जे में लेने और साझा करने आदि के संबंध में कई अन्य लोगों के साथ व्हाट्सएप चैट की है।