नोएडा के यूनिवर्सिटी और कॉलेज छात्रों को डॉग्स सप्लाई करने वाले गिरोह का खुलासा, थाईलैंड से नोएडा तक ऐसे पहुंचता था ड्रग्स

Published

नोएडा/उत्तर प्रदेश: ड्रग्स सप्लाई मामले में नोएडा पुलिस की टीम को बड़ी कामयाबी मिली है। थाना सेक्टर 126 पुलिस टीम ने कॉलेज, यूनिवर्सिटी और अन्य शैक्षिक संस्थान में ड्रग्स सप्लाई करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 9 शातिर ड्रग सप्लायर को गिरफ्तार किया है। पुलिस टीम को इनके पास से भारी मात्रा में देशी विदेशी ड्रग्स बरामद हुआ है, जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत करीबन 25 लाख रुपये है।

ड्रग्स थाईलैंड से होता था सप्लाई

पुलिस के मुताबिक इस गैंग का मुख्य सरगना अक्षय कुमार और उसकी पत्नी है। जो थाईलैंड में रहकर नौकरी करती है। अक्षय थाईलैंड से OG नामक ड्रग्स को यहां सप्लाई करता है, जबकि दूसरा आरोपी राजस्थान निवासी नरेंद्र राजस्थान से देशी गांजे को सप्लाई करता है। इस गैंग ने अपने साथ नामी यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले कुछ छात्रों को भी आपके साथ जोड़ रखा है, जिनके सहारे ये लोग कॉलेज और यूनिवर्सिटीज के छात्रों ड्रग्स सप्लाई करते थे। तस्करों को जब भी छात्रों की ओर से डिमांड आती, तभी मादक पदार्थो के डिलीवरी के लिए प्राइवेट राइडर तैयार किये जाते थे।

ड्रग्स सप्लाई में 4 छात्र गिरफ्तार

पकड़े गए आरोपियों में से आरोपी सागर नामी निजी यूनिवर्सिटी में MBA का छात्र है। वहीं, दूसरा आरोपी आदित्य भी उसी यूनिवर्सिटी में BA LLB का छात्र है, जबकि दो अन्य आरोपी भी उसी यूनिवर्सिटी में छात्र हैं। ये चारो आरोपी छात्र अपने यूनिवर्सिटी के साथ नोएडा के अलग अलग शैक्षिक संस्थानों में छात्र-छात्राओं को मादक पदार्थ सप्लाई करते थे। जिसके लिए ये लोग स्नैपचैट, टेलीग्राम और व्हाट्सएप के माध्यम से अलग-अलग लोगों से ड्रग्स मंगवाते थे, इसके द्वारा ड्रग राइडर से इसलिए सप्लाई करवाया जाता था। ताकि लगे कि अमेजन या फ्लिपकार्ट से कोई पार्सल आया है। ये सभी एक पार्सल के 7-8 हज़ार रुपये लिया करते थे।

इस ग्रुप में नाइजीरियन छात्र भी शामिल

पुलिस अब तक इस गैंग के 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं, चार आरोपियों को पुलिस ने फरार बताया है, जिसमें एक नाइजीरियन मूल का निवासी भी बताया जा रहा है। नाइजीरियन मूल के निवासी से भी ये लोग गांजा लिया करते थे, पुलिस अब इन चारों के तलाश में जुट गई है।

डीसीपी हरिश्चंद्र ने जानकारी देते हुए बताया कि चार छात्रों सहित 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जो आसपास यूनिवर्सिटी कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थानों में ड्रग सप्लाई करते थे, इनके पास से हाइ क्वालिटी के कई ड्रग बरामद हुए हैं। ये लोग ऑन डिमांड कॉलेज के छात्रों को ड्रग्स सप्लाई कर के मोटी रकम वसूलते थे। अब तक 9 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं, कुछ लोग फरार हैं, उन्हें भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।