Modi 3.0 Cabinet: एस जयशंकर ने विदेश, मनोहर लाल खट्टर ने बिजली, अश्विनी वैष्णव ने रेल मंत्री का संभाला कार्यभार

Published
Modi 3.0 Cabinet
Modi 3.0 Cabinet

नई दिल्ली/डेस्क: लोकसभा चुनाव 2024 में एनडीए की जीत के बाद पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री के रूप में तीसरी बार शपथ ले ली है। वहीं मोदी 3.0 के शपथ ग्रहण समारोह के बाद नए मंत्रियों को विभाग भी आवंटित किए जा चुके हैं। वहीं अब मंत्रियों ने अपना-अपना पदभार संभालना शुरू कर दिया है।

डॉ. एस जयशंकर ने विदेश मंत्री का कार्यभार संभाला।

अश्विनी वैष्णव ने रेल मंत्री और सूचना एवं प्रसारण (आई एंड बी) मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला।

केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा, “प्रधानमंत्री को एक बार फिर से जनता ने आशीर्वाद देकर सेवा का मौका दिया है। इसमें रेलवे का एक बड़ा रोल रहेगा। प्रधानमंत्री ने 10 वर्षों में रेलवे में बड़ा सुधार किया है। रेलवे हमारे देश की अर्थव्यवस्था की मज़बूत रीढ़ की हड्डी है। इसलिए रेलवे को केंद्र करके रखा गया है, एक भावनात्मक संबंध हैं, इसी विजन को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी मुझे दी गई है।”

केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री का कार्यभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा, “मैं नरेंद्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त करता हूं कि मुझे फिर से इस मंत्रालय की जिम्मेदारी दी है। इस मंत्रालय द्वारा कई अहम कदम प्रधानमंत्री के नेतृत्व में लिए गए हैं और हम पर्यावरण व विकास को साथ लेकर आगे बढ़ रहे हैं। देश में जो ग्रीन इकोनॉमी है उसे आगे बढ़ाने का काम हो रहा है। इसके साथ ही हम कई महत्वपूर्ण काम आगे करेंगे।”

कीर्ति वर्धन सिंह ने पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला।

गिरिराज सिंह ने कपड़ा मंत्री का पदभार संभाला। पबित्रा मार्गेरिटा ने कपड़ा मंत्रालय में राज्य मंत्री का पदभार संभाला।

कपड़ा मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा, “टेक्सटाइल ऐसा सेक्टर है जहां सबसे ज्यादा नौकरी आती है। आज दुनिया में भी हमारा निर्यात का अच्छा शेयर है। टेक्सटाइल आने वालों दिनों में देश के आकांक्षाओं के अनुरूप आगे जाएगा।”

केंद्रीय मंत्री सुरेश गोपी ने पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के राज्य मंत्री का पदभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री सुरेश गोपी ने कहा, “यह मंत्रालय मेरे लिए नया है, मुझे इस मंत्रालय की उम्मीद नहीं थी, इसलिए यह एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। मुझे निश्चित रूप से उन संभावनाओं पर गौर करना होगा, जिस पर प्रधानमंत्री मुझसे आशा कर रहे हैं।”

केंद्रीय मंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बिजली मंत्री का पदभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री जयंत चौधरी ने कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में कार्यभार संभाला। साथ ही उन्होंने शिक्षा मंत्रालय में राज्य मंत्री (MoS) के रूप में कार्यभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री चिराग पासवान ने नए मंत्रिमंडल में खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री का कार्यभार संभाला।

एल. मुरुगन ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में राज्य मंत्री का कार्यभार संभाला।

संजय सेठ ने रक्षा मंत्रालय में राज्य मंत्री का पदभार संभाला।

किरेन रिजिजू ने संसदीय कार्य मंत्री का कार्यभार संभाला।

“संसद में हमारे देश के भविष्य की चर्चा होती है और यहां से निर्णय लेकर हम देश की सेवा करते हैं। हर राजनीतिक दल का मकसद एक है-देश की सेवा। इसलिए संसद चलाने में सबका योगदान चाहिए।”

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने संस्कृति मंत्री का पदभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा, “मतदाताओं ने लगातार प्रचंड बहुमत के साथ नरेंद्र मोदी को तीसरी बार देश का प्रधानमंत्री बनने का अवसर दिया है। मोदी जी की सरकार निरंतरता की पहचान रखने वाली सरकार है। प्रधानमंत्री मोदी की मंशा के अनुरूप विकसित भारत बनाने में संस्कृति और पर्यटन दोनों मंत्रालय विशेष योगदान करें, इसके लिए हम समन्वित रूप से प्रयास करेंगे।”

डॉ. जितेंद्र सिंह ने कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय में राज्य मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया ने संचार मंत्री का कार्यभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य एम. सिंधिया ने कहा, “प्रधानमंत्री मोदी द्वारा संचार विभाग की जिम्मेदारी मुझे दी गई है। पिछले 10 वर्षों में जो क्रांति इस विभाग में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में लाई गई है, मैं सौभाग्य मानता हूं कि उस क्रांति को आगे ले जाने के लिए एक मौका मुझे दिया गया है। “

केंद्रीय मंत्री जे.पी. नड्डा ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री और रसायन एवं उर्वरक मंत्री का कार्यभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री का कार्यभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, “हमारा सौभाग्य है कि PM मोदी ने कृषि एवं किसान कल्याण विभाग सेवा के लिए हमें सौंपा है। किसान अन्न के भंडार भरता है। कृषि भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ है जो सारे देश को अन्न खिलाता है अन्नदाता कहलाता है उस किसान का कल्याण पीएम की सर्वोच्च प्राथमिकता है…हमारी सरकार निरंतर 10 सालों के किसान कल्याण के कामों में लगी है।”

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री का पदभार संभाला।

राजीव रंजन(ललन) सिंह ने पंचायती राज मंत्री और मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री के रूप में पदभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने पर्यटन मंत्री का पदभार संभाला।

अमित शाह ने केंद्रीय गृह मंत्री और सहकारिता मंत्री का कार्यभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री डॉ. सुकांत मजूमदार ने शिक्षा मंत्रालय के राज्य मंत्री का कार्यभार संभाला।

प्रतापराव गणपतराव जाधव ने स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के लिए राज्य मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला

सीआर पाटिल ने जल शक्ति मंत्रालय में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री का कार्यभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया ने युवा मामले एवं खेल मंत्री का पदभार संभाला।

कृष्ण पाल गुर्जर ने सहकारिता मंत्रालय के राज्य मंत्री का पदभार संभाला साथ ही उन्होंने सहकारिता मंत्रालय में राज्य मंत्री के रूप में पदभार संभाला।

केंद्रीय मंत्री रवनीत सिंह बिट्टू ने रेल राज्य मंत्री का पदभार संभाला।

मुरलीधर मोहोल ने सहकारिता मंत्रालय में राज्य मंत्री के रूप में पदभार संभाला।

लेखक-प्रियंका लाल