मुजफ्फरनगर पहुंची एनआईए ने सीज किया ड्रग स्मगलर का घर, बरामद हुई थी 500 करोड़ की चरस

Published
रजी हैदर के बेटे का घर सीज करती NIA

मुजफ्फरनगर/उत्तर प्रदेश: यूपी के मुजफ्फरनगर में करीब एक साल पहले रजी हैदर के घर पर एटीएस (ATS) ने छापेमारी की थी। उस छापेमारी के दौरान हैदर के घर से एटीएस गुजरात को करीब 500 करोड़ की चरस बरामद हुई थी। जिसके बाद एटीएस ने रजी हैदर को अटारी बॉर्डर से गिरफ्तार किया था। उसी केस में करीब एक साल बाद एनआईए की टीम ने मंगलवार 18 जुलाई को ड्रग तस्कर हैदर का घर सीज कर दिया।

एनआईए ने यह कार्रवाई एनडीपीएस एक्ट के तहत की है। दिल्ली से आई एनआईए की टीम ने कोतवाली पुलिस को साथ लेकर दक्षिणी खालापार में ड्रग तस्करी के मामले में दबोचे गए रजी हैदर पुत्र अमानत अली के 120 स्क्वायर मीटर मैं बने मकान को सीज़ कर दिया गया।

500 करोड़ की चरस हुई थी बरामद

मई 2022 को एटीएस गुजरात ने शहर कोतवाली पुलिस को साथ लेकर रात के समय दक्षिणी खालापार स्थित रजी हैदर पुत्र अमानत अली के घर पर छापामारी की थी। छापे के दौरान रजी हैदर की माता की निशानदेही पर पड़ोस के एक मकान से 500 करोड़ की चरस बरामद की गई थी।

शहर कोतवाली पुलिस की मदद से एटीएस गुजरात की टीम में शामिल अधिकारी बरामद चरस अपने साथ ले गए थे। एटीएस गुजरात छापेमारी की कार्रवाई में रजी हैदर को साथ लेकर आई थी। उस समय बताया गया था कि रजी हैदर को एटीएस ने अटारी बॉर्डर से गिरफ्तार किया है।

NDPS एक्ट के तहत NIA ने की कार्रवाई

एटीएस गुजरात की छापेमारी और करोड़ों की चरस बरामदगी के बाद एनआईए दिल्ली की टीम ने मंगलवार को खालापार पहुंचकर बड़ी कार्रवाई की। एनआईए दिल्ली के इंस्पेक्टर विजय वीर यादव ने टीम के साथियों को साथ लेकर रजी हैदर का दक्षिणी खालापार स्थित आवास कुर्क कर लिया। बताया कि कुर्की की कार्रवाई एनआईए इन्वेस्टिगेटिंग ऑफीसर के निर्देश पर एनडीपीएस एक्ट के तहत की गई है