आने वाली पीढ़ी खतरे में, काम करने लायक नहीं बचेंगे लोग!, एक कार्यक्रम में बोले केशव प्रसाद मौर्या

Published

कौशांबी/उत्तर प्रदेश: कौशांबी के भरवारी नगर पालिका के भवंस मेहता विज्ञान महाविद्यालय में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने हरियाली अभियान में हिस्सा लिया। कार्यक्रम में मौजूद अफसरो और स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने उनका स्वागत रुद्राक्ष का पौधा देकर किया। बदले में डिप्टी सीएम ने भी भी लोगों को पौध देकर उसे रोपित करने की जिम्मेवारी लोगों को दी।

15 अगस्त तक 30 करोड़ वृक्षारोपण का लक्ष्य

डिप्टी सीएम केशव मौर्या के मुताबिक, वह कौशांबी और प्रयागराज में हरियाली कार्यक्रम के तहत 35 हजार से अधिक पौधा रोपण कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले हैं। पूरे प्रदेश में 30 करोड़ से अधिक वृक्षारोपण करने का लक्ष्य रखा गया है। जिसे 15 अगस्त तक पूरा किया जाना है।

सब कुछ फ्री मिला तो आने वाली पीढ़ी काम नहीं कर पाएगी- मौर्या  

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने मंच से जनता को संबोधित करते हुए कहा कि पीएम आवास योजना के तहत आवास दिया, उज्वल योजना में गैस दिया, सौभाग्य योजना में बिजली दी। शौचालय दिया, अपना घर बनाए तो मनरेगा के तहत 20 हज़ार 7 सौ रुपए मजदूरी खाते में भेजी। महिलाओं के ज्यादा आवास मिला, उनको लखपति बना दिया।

इसके अलग उनका कहना है कि कई बार हम सब के मन मे आता है कि हमें जो सब कुछ मिले सब सरकार दे दे और हम बैठ करके खाएं। क्योंकि रहने के लिए घर भी मिल गया हमें, हर घर नल से पीने का पानी भी मिल गया। बीमार हो जाए तो आयुष्मान भारत कार्ड से इलाज़ भी हो जाएगा। गैस का कनेक्शन भी पहुंच गया है। 4 साल से फ्री में राशन भी मिल रहा है।

प्रदेश में 15 करोड़ व देश मे 80 करोड़ लोगों हैं, लेकिन सबकुछ फ्री में मिलेगा और हम कुछ नहीं करेंगे, तो यह ध्यान रखना आने वाली पीढ़ी काम करने के लायक ही नहीं बचेगी।

डिप्टी सीएम ने कैमरे से क्यों बना ली दूरी

मीडिया के माध्यम से डिप्टी सीएम ने जनता से अपील की कि, 15 अगस्त तक प्रदेश भर में 35 करोड़ वृक्ष लगाने का लक्ष्य रखा गया है। अभी हमारे प्रदेश का जो वन क्षेत्र है, जितनी अपेक्षा है, उसके हिसाब से कम है।

कौशांबी वासियों से प्रदेशवासियों से यही अपील करूंगा कि परिवार में जितने सदस्य हैं। हर सदस्य के नाम दो वृक्ष लगाओ, उनको बचाओ, उनको बढ़ाओ अन्यथा आने वाले समय में न हवा मिलेगी और न पानी मिलेगा।

पर्यावरण की रक्षा करने से ही जीवन है। आने वाली पीढ़ियों के लिए आशीर्वाद है। लेकिन पत्रकारो के सवालो मे मणिपुर का जिक्र आते ही डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने बिना समय गवाए मीडिया के कैमरे से दूरी बना ली।